Press "Enter" to skip to content

सार्वजनिक पद पर 19 वर्ष पूरे करने पर केंद्रीय मंत्रिमंडल ने दी पीएम मोदी को बधाई

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को चुनी हुई सरकार के मुखिया के रूप में 20वें साल में प्रवेश करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अभिनंदन किया। आज ही के दिन वर्ष 2001 में मोदी पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे। लगभग 13 साल तक राज्य का मुख्यमंत्री रहने के बाद 2014 में वह देश के प्रधानमंत्री बनें और तभी से देश का नेतृत्व भी कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सार्वजनिक कार्यालय में 19 वर्ष पूरे करने पर कैबिनेट में आज प्रधानमंत्री जी को बधाई दी गई। उन्होंने कहा कि मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार ने कई चुनौतीपूर्ण कार्यो को सफलतापूर्वक सम्पन्न किया है एवं कई लंबित योजनाएं पूरी की हैं। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने सामान्य लोगों के जीवन का स्तर बढ़ाया है।आवास, बिजली, गैस, आयुष्मान भारत, बैंक खाता, पानी जैसी अनेक सुविधाएं लोगों तक पहुंचाई और लोक कल्याण का नया मार्ग प्रशस्त किया। उन्होंने सुशासन में अनेक नई पहल की तथा देश को एक भ्रष्टाचार मुक्त सरकार दी। जावड़ेकर ने कहा कि सुरक्षा के साथ समझौता न करते हुए भी उन्होंने सभी देशों से अच्छे और मजबूत संबंध बनाए और तरक्की के लिए बुनियादी सुधार किया। पिछले महीने आयु के 70 साल पूरा करने वाले मोदी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक के रूप में काम कर चुके हैं। कई वर्षों तक वह भाजपा के संगठन मंत्री रहे। वर्ष 2001 में उन्हें उनके गृह राज्य गुजरात का मुख्यमंत्री बनाया गया था। इसके बाद मोदी ने कभी हार का स्वाद नहीं चखा। उनके नेतृत्व में भाजपा ने 2014 के लोकसभा चुनाव में शानदार सफलता हासिल की। इससे भी बड़ी विजय भाजपा को उनके नेतृत्व में 2019 के लोकसभा चुनाव में मिली। चुनी हुई सरकार के मुखिया के रूप में 20वें साल में प्रवेश करने पर बुधवार को भाजपा नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी और उनके नेतृत्व की जमकर सराहना की। आज ही के दिन वर्ष 2001 में मोदी पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे। लगभग 13 साल तक राज्य का मुख्यमंत्री रहने के बाद 2014 में वह देश के प्रधानमंत्री बनें और तभी से देश का नेतृत्व भी कर रहे हैं।

चौतरफा भाजपा नेताओं का मोदी को बधाई देने का तांता-केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस मौके पर कहा कि आज नरेंद्र मोदी ने सीएम और पीएम के रूप में 20 वर्ष पूरे किए। जब वह गुजरात के सीएम बने, तो केंद्र में गठबंधन की सरकार सत्ता में थी। लंबे समय से, एक पार्टी की सरकार सत्ता में नहीं आई थी। यहां तक कि 10 साल बाद भी सत्ता में एक गठबंधन सरकार थी।  इसके परिणामस्वरूप भ्रष्टाचार हुआ, सुरक्षा के साथ समझौता किया गया, रीढ़ विहीन विदेशी नीतियों और आर्थिक नीतियों ने गरीबों को केवल वोट बैंक माना। इससे लोगों में, लोकतंत्र में अविश्वास पैदा हो गया था।भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि भारत के राजनीतिक इतिहास में 7 अक्तूबर 2001 की तारीख एक मील का पत्थर है, जब मोदी जी ने पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। तब से, हर बार पिछली जीत से बड़ी जीत, पिछले समर्थन से बड़ा समर्थन, लोकप्रियता का बढ़ता पायदान। नड्डा ने ट्वीट कर कहा कि तब से हर बार वह पिछली जीत से बड़ी जीत और पिछले समर्थन से बड़ा समर्थन हासिल करते रहे हैं और उनकी लोकप्रियता का ग्राफ भी लगातार बढ़ता जा रहा है।भाजपा ने भी अपने आधिकारिक ट्वीटर हैडिल से ट्वीट कर सरकार के मुखिया के रूप में मोदी द्वारा पिछले 19 साल के दौरान की कई प्रमुख योजनाओं का विस्तार से ब्यौरा जारी किया। पार्टी ने कहा कि चाहे गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में उनका कार्यकाल रहा हो या विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री के रूप में, मोदी लोगों के कल्याण के लिए हमेशा एक योद्धा रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने “समर्पण, दूरदृष्टि और नि:स्वार्थ भाव से 20 साल से मानवता और मां भारती की सेवा” करने के लिए मोदी को बधाई दी।उन्होंने कहा, “लोकतांत्रिक तरीके से चुने गए और साल 2001 से लगातार 20 साल तक लोगों की सेवा करने वाले विश्व के एकमात्र नेता नरेंद्र मोदी को ढेर सारी शुभकामनाएं। भाजपा प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य सुधांशु त्रिवेदी ने ट्वीट किया, “नरेंद्र मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री और भारत के प्रधानमंत्री के रूप में कुल 6941 दिन पूरे किए हैं। ऐसा निष्कलंक कार्यकाल कम ही देखा गया है। अपनी चिंता किए बगैर उन्होंने जन कल्याण को प्राथमिकता दी। हमेशा देश की संप्रभुता और गौरव को अखंड रखा। पिछले महीने 70 साल पूरा करने वाले मोदी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक के रूप में काम किया। कई वर्षों तक वह संगठन मंत्री रहे। वर्ष 2001 में उन्हें उनके गृह राज्य गुजरात का मुख्यमंत्री बनाया गया था। इसके बाद मोदी ने कभी हार का स्वाद नहीं चखा। उनके नेतृत्व में भाजपा ने 2014 के लोकसभा चुनाव में शानदार सफलता हासिल की। इससे भी बड़ी विजय भाजपा को उनके नेतृत्व में 2019 के लोकसभा चुनाव में मिली।

More from राजनीतिMore posts in राजनीति »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.