Press "Enter" to skip to content

नई शिक्षा नीति लागू करने पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने मांगा सुझाव, एक सितंबर को देंगे सवालों का जवाब

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों के शिक्षा मंत्री और सचिवों को पत्र लिखकर नई शिक्षा नीति को स्कूली शिक्षा में लागू करने पर राय मांगी है। उन्हें 24 से 30 अगस्त तक नए नेशनल करिकुलम फ्रेमवर्क के तहत पाठ्यक्रम तैयार करने पर ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सुझाव देने होंगे। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक एक सितंबर को नई शिक्षा नीति पर छात्रों और अभिभावकों के सवालों का जवाब देंगे।

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने छात्रों और अभिभावकों से नई शिक्षा नीति से संबंधित अपने सवाल मंत्रालय को भेजने का आग्रह किया है। ऑनलाइन केंद्रीय मंत्री नीति से संबंधित प्रश्नों के जवाब देंगे के साथ उससे जुड़ी जानकारियों को भी समझाएंगे। केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने शनिवार को ट्विटर के माध्यम से डेट की घोषणा की। निशंक ने पिछले हफ्ते नई शिक्षा नीति पर छात्रों और अभिभावकों से बात करने और उनकी दिक्कतों को सुलझाने की घोषणा की थी। हालांकि उस समय डेट की घोषणा नहीं की गई थी। निशंक ने छात्रों और अभिभावकों के अलावा शिक्षकों से भी इस कार्यक्रम में जुड़ने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति स्कूली शिक्षा को मजबूती देने के साथ भारतीय संस्कृति, इतिहास और परंपराओं से भी जोड़े रखेगी। इसमें मातृृभाषा, भारतीय भाषाओं से लेकर छात्र आधुनिक तकनीक और पढ़ाई से भी जुड़ेंगे। अभिभावकों को कार्यक्रम के माध्यम से नीति के बदलाव के बारे में पूरी जानकारी मुहैया करवाना है। इसके अलावा उनकी भ्रांतियों को भी दूर करना है। केंद्रीय मंत्री ने लिखा है कि शिक्षा मंत्रालय ने पूरा एक दिन नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति से संबंधित सवाल-जवाब के लिए रखने का फैसला किया है। नई शिक्षा नीति से जुड़ा कोई प्रश्न है तो वे हैश टैग #NEPTransformingIndia पर भेज सकते हैं। उनके प्रश्नों का अलग से उन्हें विस्तार से उत्तर भी दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-नई शिक्षा नीति में ‘नौकरी सृजन करने वाला’ बनाने पर ज्यादा बल: पीएम मोदी

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.