Press "Enter" to skip to content

जब आये पोलियों की बारी, माता-पिता की है ये जिम्मेदारी

मुज़फ्फरनगर: जिले को पोलियो मुक्त बनाने के स्वास्थ्य विभाग की ओर से पोलियो जागरुकता रैली का आयोजन किया गया। जिसको केंद्रीय राज्य मंत्री और मुज़फ्फरनगर सांसद डॉ संजीव बालियान, योगी सरकार में राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कपिल देव अग्रवाल एवं ज़िला मुख्य चिकित्साधिकारी पी.एस मिश्रा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

रैली नगर के टॉउन हॉल प्रांगण से होते हुए जिला अस्पताल में जाकर समाप्त हुई। रैली के माध्यम से लोगो को पोलियों के बारे में जागरूक किया गया। जिसमें शहर के विभिन्न स्कूली बच्चों ने भाग लिया। रैली के दौरान स्कूली बच्चो ने रास्तो में मिलने वाले लोगो को बताया कि वह अपने पांच साल से छोटे बच्चे को नजदीकी केंद्र पर पोलियो की दवाई जरूर पिलाए, कोई भी छोटा बच्चा पोलियो की दवाई बिना नहीं रहना चाहिए।

मुख्य चिकित्साधिकारी पी.एस मिश्रा ने बताया कि जिले में पोलियो अभियान के तहत 0-5 साल तक के शहरी एवं ग्रामीण बच्चों को दवाई पिलाने का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें 0-5 साल तक के सभी बच्चों को पोलियो दवाई पिलाई जाएगी। जिसमें आशा, आगंनबाडी कार्यकत्री एवं कई विभाग के अधिकारियों का भी सहयोग लिया जाएगा। ताकि ज्यादा से ज्यादा बच्चों को दवाई पिलाई जा सके। इसके बाद फिर आशा घर-घर जाकर पल्स पोलियों खुराक नौनिहालों को पिलाएगी।

उन्होंने बताया कि किन्हीं कारणों से यदि बच्चे को सरकारी कार्यक्रम के तहत पोलियो की खुराक पीने से छूट जाता है तो आशा एवं आगंबाड़ी कार्यकत्री घर-घर जाकर बच्चों को दवाई पिलाएंगी। साथ ही स्कूलों, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन आदि जगहों पर टीम पोलियों की दवाई पिलाने के लिए तत्पर रहेंगी। उन्होंने सभी लोगों से अपील की सभी अपने बच्चों को समय से पोलियों की खुराक पिलाएं।

More from सेहत जायकाMore posts in सेहत जायका »

Be First to Comment

Leave a Reply

Mission News Theme by Compete Themes.