Press "Enter" to skip to content

लू व हीट स्ट्रोक से बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की कार्ययोजना तैयार

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

नोएडा। लगातार चढ़ते पारे और बढ़ती गर्म हवा को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने लोगों को लू व हीट स्ट्रोक से बचाने के लिए कार्ययोजना तैयार की है। प्रमुख स्वास्थ्य केन्द्रों के चिकित्सा अधीक्षकों के दिशा निर्देशन में रैपिड रेस्पांस टीमों का गठन किया गया है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा अनुराग भार्गव ने बताया कि गर्मी के प्रकोप को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग एकदम सतर्क है। इससे निपटने के लिए विभाग ने कार्ययोजना बना ली है। अलग-अलग विभागों का सहयोग भी लिया जा रहा है। जिला अस्पताल सहित सभी सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर समुचित व्यवस्था की गई हैं।

कार्य योजना के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए मलेरिया अधिकारी राजेश शर्मा ने बताया कि नोएडा प्राधिकरण की मदद से शहरी क्षेत्रों में छाया वाले स्थान व शुद्ध पेयजल स्थान बनाए जाएंगे। सभी सरकारी अस्पतालों में गर्मी संबंधी रोगों के उपचार के लिए जरूरी दवा व आईवी फ्लूड्स उपलब्ध करा दिये गए हैं। 13 नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रोंए जिला अस्पतालए ईएसआईसी अस्पताल राजकीय चिकित्सा विज्ञान संस्थानए नव प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में ओआरएस कार्नर बनाए जाएंगे। आकस्मिकता की स्थिति में 102 अथवा 108 एम्बुलेंस सेवा तैयार रहेगी।

निगरानी-
लू से संबंधी बीमारियों की निगरानी के लिए सभी चिकित्सा अधीक्षकों एवं प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों की देख-रेख में स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाएंगी। लू से बीमार व्यक्ति को सभी स्वास्थ्य सेवाओं में प्राथमिकता दी जाएगी। प्रत्येक सरकारी चिकित्सालय में ओआरएस पाउडर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करा दिया गया है।

जागरूकता-
लोगों को लू संबंधी बचाव के लिए जागरूक किया जाएगा। इससे संबंधित पम्पलेट्स बांटे जाएंगे। स्कूलों में सुबह प्रार्थना के समय बच्चों को लू से बचने के लिए जागरूक किया जाएगा। साथ ही ये संदेश मित्रों माता-पिता तक पहुंचाने को कहा जाएगा।

मलेरिया अधिकारी ने बताया कि लू संबंधी सभी प्रकार की सूचनाएं रोजाना सभी स्वास्थ्य केन्द्रों से मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में एकत्रित की जाएंगी। इसके बाद सभी डाटा राज्य मुख्यालय भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग की मदद से स्कूल कार्य के दौरान अध्यापकए छात्र-छात्राओं को स्वच्छ पानी उपलब्ध कराया जाएगा। जो स्कूल प्रयोग में नहीं हैं उनको दिन में शरण स्थल के रूप में प्रयोग किया जाएगा। स्कूल का समय सुबह जल्द करवाने का प्रबंध किया जाएगा।

सभी मजदूरों के लिए मजदूरी वाले कार्य स्थलों पर स्वच्छ व ठंडे पानी की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने बताया कि पीडब्ल्यूडी व अन्य श्रमिक संस्थाओं से कहा गया है कि वे श्रमिकों के लिए शरण गृह की व्यवस्था करें और अति गर्मी वाले समय अंतराल 12 से 3 बजे तक कार्य को स्थगित रखे, ताकि मजदूरों को हीट स्ट्रोक से बचाया जा सके। शीत केन्द्रों माल, मंदिरों, स्कूलों को अस्थाई रैन बसेरों में सक्रिय किया जाएगा। नोएडा प्राधिकरण की सहायता से मलिन बस्तियों में श्रमिकों के लिए शरणगृह बनाए जाएंगे तथा बाजारों, भीड़भाड़ वाले इलाकों और श्रमिक बस्तियों में पेयजल की व्यवस्था की जाएगी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Be First to Comment

    प्रातिक्रिया दे

    आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

    Mission News Theme by Compete Themes.