Press "Enter" to skip to content

वर्ल्‍ड हाइपरटेंशन डे: स्वस्थ रहना है तो तनाव से रहें दूर

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मुजफ्फरनगर। अनहेल्दी डाइट, व्यायाम न करना और अत्याधिक नमक का सेवन तो ब्लडप्रेशर बढ़ने का कारण हो सकते हैं, इसके अलावा ज्यादा तनाव भी हाइपरटेंशन और ब्लडप्रेशर जैसी बीमारी की एक बड़ी वजह हैं। इसलिए स्वस्थ्य रहने के लिए जीवन में तनाव को दूर रखना चाहिए। शुक्रवार को वर्ल्‍ड हाइपरटेंशन डे पर सीएमओ कार्यालय में आयोजित सेमिनार में वक्ताओं ने ये बात कहीं।

सेमिनार में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. पी.एस मिश्रा ने कहा कि अगर आप जिदंगी में अधिक तनाव ले रहे हैं तो यह आपके लिए जोखिम भरा हो सकता है। गलत खानपान की आदतों का कारण हाइपरटेंशन या हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों को माना जाता है। इसे साइलेंट किलर भी माना जाता है। हार्टअटैक भी इसका कारण बन सकता है। अगर इस बीमारी से बचा कर अपने आप को सुरक्षित रखना है तो बिना टेंशन व खानपान पर विशेष ध्यान रखें।

उन्होंने बताया कि विश्व हाइपरटेंशन डे एक दिन है जिसे विश्व हाइपरटेंशन लीग (डब्ल्यूएचएल) द्वारा नामित और शुरू किया गया है, जो स्वयं 85 राष्ट्रीय उच्च रक्तचाप समितियों और लीग के संगठनों के साथ काम करती है। उन्होंने कहा कि उच्च रक्तचाप एक साइलेंट किलर है। क्योंकि इसके अपने कोई लक्षण नहीं होते है। लेकिन ज्यादातर मामले में मस्तिष्क , दिल दर्द, चक्कर आना ,किडनी व आंखों पर इसका असर साफ दिखाई देता है। बचपन में हाई ब्लड प्रेशर होने से बच्चों में ब्रेनस्ट्रोक, हार्टअटैक, किडनी का फेल होना, आंखों की रोशनी का अचानक कम होना, एथेरास्क्लेरोसिस या धमनी के सख्त होने का खतरा ज्यादा रहता है। हाईब्लडप्रेशर में यह जरूरी नहीं है कि रोगी को इसके लक्ष्ण दिखाई दें लेकिन इसका असर शरीर को प्रभावित करता है। आगे जाकर व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए खतरा रहता है। देखा जाए तो कुछ मामलो में हाई ब्लडप्रेशर सिरदर्द, आंखों पर असर ,चक्कर आना, नाकबंद, दिल की धड़कन का तेज होना व मिचली का कारण भी बनता है। उन्होंने इसके बचाव के तरीके बताते हुए कहा कि ऐसे व्यक्तियों को रोजाना कम से कम आधा घंटे तक कसरत करनी चाहिए और नमक का प्रयोग कम से कम करना चाहिए। ऐसे मरीजों को चिकित्सक की देखरेख में दवाओं का सेवन करना चाहिए। सेमिनार में जिला अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक डा. वीके सिंह सहित अन्य वक्ताओं ने टेंशन न लेने की सलाह दी।

ऐसे करें बचाव-
धूम्रपान व शराब के सेवन से बचें।
हरी व सब्जियों व फलों का सेवन करें।
हर छठे माह बीपी की जांच अवश्य करायें।
कम फैट वाले डेयरी प्रोडेक्ट्स को भोजन में शामिल करें।
सुबह के समय कम से कम आधा घंटे व्यायाम जरूर करें।
भेाजन में नमक की मात्रा को कम ही रखे।
शरीर को एक्टिव रखने के साथ अपना वजन न बढ़ने दें।
मार्निंगवॉक अवश्यक करे

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.
More from शहरनामाMore posts in शहरनामा »

Be First to Comment

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Mission News Theme by Compete Themes.